विविध

प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में उ0प्र0 देश में तेजी के साथ उभरती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित हुआ : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश देश में तेजी के साथ उभरती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित हुआ है। प्रदेश को बेहतरीन एयर कनेक्टिविटी प्राप्त हुई है। आज प्रदेश को उत्तर, दक्षिण, पूर्व तथा पश्चिम से जोड़ने के लिए स्पाइसजेट एयरलाइंस द्वारा अपनी 08 नई उड़ान सेवाओं का शुभारंभ कर, भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या

को हवाई सेवा द्वारा दिल्ली, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, पटना, दरभंगा, मुम्बई तथा बेंगलुरु रूट से जोड़ा जा रहा है। इनमें से बेंगलुरु को छोड़कर शेष सभी हवाई सेवाएं आज से प्रारम्भ होंगी। दिल्ली, अहमदाबाद, मुम्बई, कोलकाता तथा बेंगलुरु के लिए अयोध्या से वायु सेवा सफलतापूर्वक संचालित हो रही हैं।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर अयोध्या से दिल्ली, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, पटना, दरभंगा, मुम्बई, बेंगलुरु के बीच स्पाइसजेट की सीधी हवाई सेवा के वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इसके पश्चात उन्होंने हरी झण्डी दिखाकर वायु सेवा का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने 30 दिसम्बर, 2023 को नवनिर्मित महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, अयोध्या धाम का लोकार्पण किया था।

विगत एक माह के दौरान अयोध्या नगरी की कनेक्टिविटी देश के महत्वपूर्ण नगरों के साथ होना अयोध्या के बेहतर भविष्य व पर्यटन क्षेत्र में सम्भावनाओं की ओर ध्यान आकर्षित करता है। प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी के क्षेत्र में बेहतर कदम उठाए गए हैं। प्रधानमंत्री जी के विजन को श्री ज्योतिरादित्य एम0 सिंधिया जी तथा डॉ0 वी0के0 सिंह जी ने जमीनी धरातल पर उतारने का कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या धाम देश की आस्था का प्रतीक है। जनभावनाएं अयोध्या नगरी व प्रभु श्री रामलला के साथ जुड़ी हुई हैं। अयोध्यावासियों तथा जनप्रतिनिधियों के मन में अयोध्या के विकास की अभिलाषा थी, आज वह सपना साकार हो रहा है। इन सभी को अंतःकरण से प्रसन्नता की अनुभूति हो रही है।

अयोध्या इसका हकदार था, लेकिन किन्हीं कारणों से अयोध्या की उपेक्षा की गई। आज से 10 वर्ष पूर्व कोई नहीं सोचता था कि अयोध्या में इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। आज यह सपना साकार हुआ है। अब अयोध्या में फोरलेन सड़क कनेक्टिविटी, डबल रेलवे लाइन कनेक्टिविटी, इंटरनेशनल एयरपोर्ट निर्माण आदि सभी कार्य वास्तविकता के धरातल पर उतर चुके हैं। यह सभी सुविधाएं अयोध्यावासियों को उपलब्ध हो रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभु श्री रामलला अयोध्या नगरी में स्वयं के भव्य मंदिर में विराजमान हो चुके हैं। इस सपने को साकार होते देखकर पूरी दुनिया प्रफुल्लित है। प्रभु सर्वव्यापी हैं। प्रभु श्री राम ने श्रीलंका से अयोध्या की यात्रा पूरी करके रामराज्य की स्थापना की आधारशिला रखी थी। 22 जनवरी, 2024 को प्रभु श्री राम के बाल रूप विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम भारत के गौरव की पुनर्प्रतिष्ठा का कार्यक्रम

था। भारत के प्रत्येक नागरिक के चेहरे पर जो तेज, उत्साह व उमंग है, वह नए भारत की तस्वीर को प्रस्तुत करता है, जो वर्ष 2047 तक भारत को दुनिया के विकसित देश के रूप में स्थापित करने के प्रधानमंत्री जी के संकल्प को पूरा करेगा। उत्तर प्रदेश, देश के ग्रोथ इंजन के रूप में अपनी भूमिका का निर्वहन कर पाए, इस दृष्टि से अयोध्या का विकास अत्यंत महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत 10 दिनों में अयोध्या नगरी में 25 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रभु श्री रामलला के दर्शन किए हैं। यह एक अद्भुत व अलौकिक स्थिति है। यह लोगों के लिए कौतूहल और आश्चर्य का विषय बना हुआ है। प्रधानमंत्री जी के विजन के अनुरूप अयोध्या का इंफ्रास्ट्रक्चर इस लायक बना है, कि अयोध्या नगरी एक साथ 50 लाख से लेकर 01 करोड़ तक पर्यटक और श्रद्धालुओं को समाहित करने का सामर्थ्य रखती है। प्रदेश सरकार द्वारा रामनवमी के लिए इसी योजना के तहत कार्य किया जा रहा है।

राज्‍यों से जुड़ी हर खबर और देश-दुनिया की ताजा खबरें पढ़ने के लिए नार्थ इंडिया स्टेट्समैन से जुड़े। साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप को डाउनलोड करें।

NIS

जिसका प्रत्येक लेख बहस का मुद्दा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button

sbobet