fire lucknow krishi bhawan important files burned down up top
fire lucknow krishi bhawan important files burned down up top

लखनऊ के हजरतगंज थाना क्षेत्र स्थित Krishi Bhawan की बिल्डिंग में गुरुवार सुबह आह लग जाने से हड़कंप मच गया। धुंआ उठते देख कार्यालय पहुंचे कर्मचारी शोर मचाकर भागने लगे। आनन-फानन में लोगों ने इसकी सूचना अग्निशमन विभाग और पुलिस को दी।

जानकारी के मुताबिक, थाना क्षेत्र के मदन मोहन मालवीय मार्ग पर कृषि भवन स्थित है। कृषि भवन के दूसरे तल पर सहित कार्यालय में आज सुबह आग लगने की सूचना फायर कंट्रोल रूम को प्राप्त हुई।

धुंआ देख मची अफरा-तफरी

मौके पर घंटों अफरा-तफरी का माहौल बना रहा, पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है। आग लगने से कार्यालय में रखी फाइलें और काफी सामान जलकर राख हो गया। हालांकि आग लगने से कितने का नुकसान हुआ है और कौन सी महत्वपूर्ण फाइलें जली हैं इसकी भी जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, थाना क्षेत्र के मदन मोहन मालवीय मार्ग पर कृषि भवन स्थित है।
कृषि भवन के दूसरे तल पर सहित कार्यालय में गुरुवार को सुबह 8:44 बजे आग लगने की सूचना फायर कंट्रोल रूम को प्राप्त हुई।

आग लगने की सूचना मिलते ही अफरा-तफरी मच गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल कर्मी आग बुझाने में करीब आधे घंटे में सफल हो पाए। फ़िलहाल पुलिस के अनुसार, प्रथम दृष्टया आग शार्ट सर्किट के जरिये पंखे में लगना बताया जा रहा है।

पुलिस का कहना है कि आग लगने से कमरे में रखी फाइलें और कीमती सामान जल गया। हालांकि कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। आग लगने से घोटाले की फाइलें जलना भी बताया जा रहा है।

  • गौरतलब है कि पिछली 27 जुलाई 2017 को कैसरबाग थाना क्षेत्र स्थित इंदिरागांधी आई हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएटर (ओटी) में आग लगने से हड़कंप मच गया था।
  • वहीं 15 जुलाई 2017 को चौक इलाके में स्थित किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) के ट्रॉमा सेंटर के द्वितीय तल पर भीषण आग लग जाने से हड़कंप मच गया था।

जांच टीम 7 दिन में सौंपेगी रिपोर्ट

  • कृषि भवन में आग लगने के मामले में जेडीए राजेश गुप्ता के नेतृत्व में जांच कमेटी गठित की गई है।

  • ये जांच कमेटी 7 दिन में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगी।

  • बता दें कि आग लगने से कमरा नंबर 119 में आग लगी।

  • आग लगने से स्टेब्लिशमेंट और निजी कंपनी के भुगतान संबंधी फाइलें जलकर राख हो गईं।

  • बताया जा रहा है कि ये आग नए निदेशक की तैनाती के बाद लगी है।

  • इससे घोटाले और लेनदेन की फाइलें जलकर राख हो गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.