A Symbol of Boldness.

- Advertisement -

शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला लगातार पांचवें दिन भी जारी, सेंसेक्स-निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर

0

मुंबई – शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला लगातार पांचवें कारोबारी सत्र बुधवार को भी जारी रहा और बीएसई सेंसेक्स तथा एनएसई निफ्टी दोनों नये रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुए। निवेशकों की वाहन, बिजली और ढांचागत क्षेत्र से जुड़े शेयरों में लिवाली जारी रहने से बाजार में तेजी बनी हुई है। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स एक समय कारोबार के दौरान 60,836.63 अंक तक चला गया था। अंत में यह 452.74 अंक यानी 0.75 प्रतिशत उछलकर 60,737.05 के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 169.80 अंक यानी 0.94 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,161.75 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान यह रिकॉर्ड 18,197.80 अंक तक चला गया था। सेंसेक्स के शेयरों में 5 प्रतिशत से अधिक की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में महिंद्रा एंड महिंद्रा रही। इसके अलावा आईटीसी, एलएंडटी, टेक महिंद्रा, टाइटन और टाटा स्टील में भी प्रमुख रूप से तेजी रही। दूसरी तरफ मारुति, एचयूएल, नेस्ले इंडिया, एक्सिस बैंक और एसबीआई में गिरावट रही। खंडवार सूचकांकों में बीएसई वाहन, जनकेंद्रित सेवाओं, औद्योगिक और बिजली सूचकांकों में 3.46 प्रतिशत तक की तेजी रही।

वहीं रियल्टी सूचकांक नुकसान में रहा। मिडकैप और स्मॉलकैप (मझोली एवं छोटी कंपनियों के शेयर) सूचकांक 1.56 प्रतिशत तक मजबूत हुए। एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, टाटा मोटर्स की अगुवाई में वाहन शेयरों में निफ्टी को 18,200 की नयी ऊंचाई पर पहुंचाया। बुनियादी ढांचा विकास और मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी के लिये मास्टर प्लान गतिशक्ति शुरू किये जाने से बुनियादी ढांचा और धातु कंपनियों के शेयरों से भी अच्छा समर्थन मिला। उन्होंने कहा कि बाजार को प्रमुख आईटी कंपनियों के वित्तीय परिणाम का इंतजार है।

टाटा समूह की कंपनियों के शेयरों पर निवेशकों की नजर रही। हालांकि, दोपहर के कारोबार में इसमें मुनाफावसूली देखने को मिली। वित्तीय कंपनियों और रिलायंस इंडस्ट्रीज में तेजी से बाजार को समर्थन मिला। टाटा समूह के शेयर खासकर टाटा मोटर्स पर निवेशकों की नजर रही। कंपनी की इलेक्ट्रिक वाहन इकाई में टीपीजी के एक अरब डॉलर के निवेश की खबर से इसके शेयर में तेजी रही।

एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और सियोल लाभ में रहे, जबकि तोक्यो में गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी दोपहर के कारोबार में सकारात्मक रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.54 प्रतिशत टूटकर 82.97 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे मजबूत होकर 75.37 प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

- Advertisement -

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.