A Symbol of Boldness.

- Advertisement -

जब पूरा देश आपके बेटे को पुकारेगा..

0

प्रिय राजीव गांधी जी,

मुझे विश्वास है कि आप इसे पढ़ रहे होंगे। आज आपके बलीदान को पूरे देश ने याद किया, श्रद्धांजली दी गई, आप पर लिखा गया, बोला गया, पढ़ा गया, सबकी अपनी वजहें थी और कई सारी वजहें थी।

किसी ने कंप्यूटर क्रांति के लिए याद किया। किसी ने अर्थव्यवस्था, नवोदय और शिक्षा के प्रसार के लिए तो किसी ने पंचायती राज चुनाव और 18 साल के युवाओं के मताधिकार के लिए। कई विपक्षी नेताओं ने आपको अटल जी के सहारे भी याद किया। कुल मिलाकर आप अपने दूरगामी फैसलों के लिए याद किए गए। देश को तकनीक के सहारे वैश्विक बुलंदियों तक पहुंचाने के लिए याद किए गए।

आज इन चीजों के लिए आपको याद नहीं करूंगा, ये उधार रहा। आज का दिन उनके लिए, जिन्हें आप छोड़ गए। हमारे पास, इस देश के लिए, इस देश के पास।

आज राहुल के लिए आपको याद कर रहा हूं। उस बीस साल के मासूम के लिए जिसने तिरंगे में लिपटे पिता के चिथड़ों को कंधा दिया। एक सफेद कपड़े को मुखाग्नि दी। जिसे आख़िरी बार अपने पिता का चेहरा नसीब नहीं हुआ। ये दिन उसके लिए, जिसे इस देश के सियासतदानों ने पप्पू कहा, मजाक उड़ाया।

एक आपके चले जाने ने सब तोड़ दिया, उजाड़ दिया, डरा दिया, पूरा परिवार बिखेर दिया। खेलने-कूदने की उम्र में उन्हें सुरक्षा घेरे में रखा गया। हंसते खिलखिलाते जीवन को जेल बना दिया गया। लेकिन देश भी देखना था। राजनीति और सत्ता से डर के बीच एक लीगेसी थी, मौत की आशंका थी। लेकिन आपकी विरासत थी, एक बेसहारा मां, एक बहन और एक कमज़ोर कांग्रेस।

वो मां, जिसे विदेशी बताया गया, गालियां दी गईं, उपहास उड़ाए गए। और ये सब केवल आपके जाने से हुआ। जब राहुल राजनिति में आए तब फिट नहीं थे। समझ कम थी, अनुभव नहीं था, लेकिन मां को सहारा देना था। डर था कि मारे जायेंगे, जैसे इन्दिरा को मारा गया, आपको मारा गया।

लेकिन आज आपको फक्र होगा… फर्जी ब्रांडिंग में उलझे तमाम नेताओं के बीच आज राहुल अकेले तनकर और निर्भीकता से खड़े हैं। षड्यंत्रों के बीच चुप-चाप अपना काम कर रहे हैं। खुद को समझने के लिए इस देश को समय दे रहे हैं। लड़ रहे हैं, जूझ रहे हैं, हार रहे हैं और लगातार सीख रहे हैं..! दो रेखाओं में बंटे इस देश के, वो एकमात्र विकल्प हैं, उम्मीद हैं, और भविष्य भी हैं।

Rahul Gandhi at Shri Jagannathji Temple
Rahul Gandhi at Shri Jagannathji Temple

इसलिए आज का दिन आपके लिए नहीं है। आपके राहुल के लिए है। आपके परिवार के लिए है। आप बस फक्र महसूस कीजिए, क्योंकि वो दिन अब दूर नहीं जब पूरा देश आपके बेटे को ही पुकारेगा..!❤️

Priyanshu
Priyanshu

प्रियांशु, जन विचार संवाद ग्रुप की वॉल से साभार

- Advertisement -

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.