Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Tag

JP Babu

लोकनायक जयप्रकाश नारायण-2

चन्द्रशेखर ने उनका परिचय जे0पी0 से कराया। तुरन्त जे0पी0 ने तत्कालीन रेलमंत्री लालबहादुर शास्त्री के नाम एक व्यक्तिगत पत्र लिखा कि मुस्तफा को कोई नौकरी दी जाए। कुछ समय बाद जे0पी0 की भेंट चन्द्रशेखर से आजमगढ़ में हुई और चन्द्रशेखर से मुस्तफा

लोकनायक जयप्रकाश नारायण-1

जयप्रकाश ने देश से कुछ मांगा नहीं, सिर्फ दिया ही है। इसलिए देश उनके नैतिक अधिकार को मानता था। चंबल के खूंखार डकैतों को सरकार पकड़ नहीं सकी, लेकिन जयप्रकाश की नैतिकता के वशीभूत होकर उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया। इस तरह की कई घटनाएं हैं। कोई

लोकनायक जयप्रकाश नारायण

इस कॉलम में हम प्रस्तुत करने जा रहे हैं, देश और उसकी जनता के लिए तह तक ईमानदार एक महापुरूष की जीवनी।तो लीजिए प्रस्तुत है उनकी बानगी। स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा प्यार और सम्मान जिन दो नेताओं को मिला, वे थे -पंडित जवाहरलाल