Panchatantra_Kahani
Panchatantra_Kahani

पिछले अंक के भाग-13 में आपने पढ़ा कि……………

उस मंत्री को विष्णुशर्मा नाम के उस पंडित का पता था जो सभी शास्त्रों का जानकार था और छात्रों के बीच बहुत लोकप्रिय था। सुमित ने सुझाव दिया कि राजा ( King ) अपने बच्चों को उसी को सौंप दे। वह गधों को घोड़ा और घोड़ों को आदमी बनाने की कला जानता है।……….

इससे आगे भाग-14 में पढ़िए………कि..

इसलिए इसमें संदेह ही नहीं था कि वह उन्हें बहुत जल्द ही सही रहा पर ला देगा। और ऐसी सभी बातें सिखा देगा जिन्हें एक राजा ( King ) को तो जानना ही चाहिए, जिसे दुनियाभर के आदमी को भी समझना चाहिए।

उसके सुझाव पर गौर करने के बाद राजा को आशा की एक नई किरण दिखाई दी। उसने विष्णुशर्मा को बुलावा भेजा और उनसे बोला, यदि आप मेरे इन लड़कों को जल्द अर्थशास्त्र में दूसरों जैसा समझदार बना सकें तो मैं आप को पांच सौ गांव दान में दूंगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.